BREAKING NEWS

image caption:

चुनाव के दौरान निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने हमारे साथ किया अमानवीय व्यवहार: शिवराज

Date : 2018-12-05 05:36:00 PM

भोपाल-(05-12-2018)-मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस द्वारा ईवीएम को लेकर लगाए जा रहे आरोपों को गलत बताते हुये कहा है कि ईवीएम में छेड़छाड़ कोई गुड्डे-गुड़िया का खेल नहींं है। शिवराज ने यह भी कहा कि हमने कोई आरोप नहीं लगाया लेकिन सच्चाई यह है कि चुनाव आयोग और चुनाव कार्य में लगे अधिकारियों ने हमारे (बीजेपी के) साथ बहुत सख्ती की और अमानवीय व्यवहार भी किया। शिवराज ने आरोप लगाते हुए कहा कि आयोग के अफसरों ने मुझे अपने एक कार्यकर्ता के अंतिम संस्कार में भी शामिल नहीं होने दिया। बुधवार को मुख्यमंत्री निवास पर पत्रकारों से बात करते हुए शिवराज ने कांग्रेस की आलोचना की। उन्होंने कहा कि मतदान के दिन से ही कांग्रेस निराधार आरोप लगा रही है। उसे हार का डर है औऱ वह हार का ठीकरा ईवीएम के सिर फोड़ना चाहती है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग एक संवैधानिक संस्था है, उस पर सवाल उठा कर कांग्रेस संदेह का वातावरण बना रही है। शिवराज ने कहा कि कांग्रेस चुनाव को मजाक बनाने की कोशिश कर रही है और प्रशासन पर दबाव बनाना चाहती है। 


मुख्यमंत्री ने नसीहत देते हुए कहा कि संवैधानिक संस्थाओं का विश्वास बनाए रखना, हम सबकी जिम्मेदारी है। कैबिनेट बैठक बुलाये जाने के सवाल पर उन्होंने कहा- चुनाव है तो क्या हुआ, हम रूटीन के काम तो जरूर करेंगे। सीएम ने कहा कि हम किसी भी तरह प्रदेश की जनता को भगवान के भरोसे तो नहींं छोड़ सकते हैं। भले ही हम नीतिगत फैसले नहींं ले सकते, लेकिन समीक्षा तो कर ही सकते हैं। शिवराज ने दावा किया कि वह चौथी बार सरकार बनाने जा रहे हैं। लेकिन अबकी बार दो सौ पार के नारे पर उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।उधर चुनाव आयोग के कर्मचारियों पर अमानवीय व्यवहार करने के आरोप पर कांग्रेस ने शिवराज को आड़े हाथों लिया है। कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा है कि चुनाव आयोग के कर्मचारियों पर अमानवीयता का आरोप लगाकर शिवराज सिंह ने संवैधानिक संस्था का अपमान किया है। उन्हें अपनी स्थिति साफ करनी चाहिए और आयोग से माफी मांगनी चाहिए।