image caption:

चांदनी चौक में मिले 300 प्राइवेट लॉकर्स, अबतक 30 करोड़ बरामद.

Date : 2018-12-03 12:51:00 PM

नई दिल्ली-(03-12-2018)-राजधानी दिल्ली में पिछले एक महीने से आयकर विभाग एक बड़ी कार्रवाई कर रहा है। दिल्ली के चांदनी चौक में आयकर विभाग ने करीब 300 प्राइवेट लॉकरों को जब्त किया है, जिसमें से अब तक 30 करोड़ रुपए बरामद किए जा चुके हैं। सूत्रों की माने तो इन पैसों के तार एक बड़े हवाला रैकेट से जुड़े हो सकते हैं।  बताया जा रहा है कि कई लॉकर अब भी खुलना बाकी हैं और नोटों की गिनती भी जारी है। रविवार रात जब न्यूज़ 24 की टीम मौके पर पहुंची तब भी आयकर विभाग की टीम बेसमेंट में मौजूद थी।चांदनी चौक के खारी बावली इलाका की इस बिल्डिंग के बेसमेंट से आयकर विभाग ने करोड़ों रुपए जब्त किए हैं। पिछले एक महीने से ये बिल्डिंग आयकर विभाग के रडार पर थी। आयकर विभाग ने इस बिल्डिंग के बेसमेंट में बने करीब  300 प्राइवेट लॉकरों से अब तक 30 करोड़ रुपए बरामद कर लिए हैं। ये सभी प्राइवेट लॉकर राजहंस सोप मिल्स प्राइवेट लिमिटेड नाम की दुकान के बेसमेंट में बने हुए थे। बताया जा रहा है कि राजहंस सोप मिल्स नाम की इस छोटी सी दुकान में साबुन और ड्राइफ्रुट्स का काम होता है। करीब एक महीने पहले जैसे ही आयकर विभाग को खारी बावली की इस दुकान के ज़रिए पैसों के बड़े लेनदेन की जानकारी मिली।


 आयकर विभाग ने दुकान पर छापा मारकर सभी प्राइवेट लॉकरों को जब्त कर लिया। फिलहाल इस बात का खुलासा नहीं किया गया है कि लॉकरों के मालिक कौन है और इन पैसों का कनेक्शन क्या है, लेकिन सूत्रों की माने तो आयकर विभाग कई लोगों से इस बारे में पूछताछ कर रही है।हालांकि न्यूज़ 24 की पड़ताल में अशोक गुप्ता नाम के एक शख्स का नाम सामने आया है। बिल्डिंग के गार्ड का दावा है कि अशोक गुप्ता ही बिल्डिंग का मालिक है और बेसमेंट में बने ये सभी लॉकर अशोक गुप्ता की देखरेख में ही संचालित किए जा रहे थे। आयकर विभाग की टीम लगातार एक महीने से इस छापेमारी की कार्रवाई में जुटी हुई है।  शुक्रवार को लॉकरों से बरामद की गई रकम को लेकर जानकारी बाहर आने लगी।आपको बता दें कि जांच एजेंसियों द्वारा ये इस साल ऑपरेशन लॉकर के तहत की गई तीसरी बड़ी कार्रवाई है। जनवरी में आयकर विभाग ने दिल्ली के ही साउथ एक्सटेंशन पार्ट-2 में एक निजी लॉकर से 40 करोड़ रुपए से ज्यादा की नगदी बरामद की थी। जिसके बाद आयकर विभाग ने दिवाली के दौरान चांदनी चौक में ही एक निजी लॉकर यूनिट के 250 से ज्यादा लॉकरों को सील कर दिया था। सूत्रों की माने तो खारी बावली के इन प्राइवेट लॉकर्स का इस्तेमाल बड़े हवाला कारोबारी ही कर रहे थे। वहीं  हवाला कारोबार का इंटरनेशनल रैकेट लंबे समय से जांच एजेंसियों के निशाने पर है  और लॉकर ऑपरेशन के ज़रिए हवाला कारोबार के इस पूरे रैकेट में बड़े खुलासे होने की उम्मीद है।