image caption:

बिहार सरकार को सुप्रीम कोर्ट का बड़ा झटका, CBI को सौंपे सभी 17 शेल्‍टर होम 17 केस

Date : 2018-11-28 01:46:00 PM

नई दिल्ली-(28-11-2018)-सुप्रीम कोर्ट ने बिहार शेल्‍टर होम केस से जुड़े सभी 17 मामलों को जांच के लिए सीबीआई को सौंप दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने साफ तौर पर कहा है कि पुलिस अपना काम नहीं कर रही है। इसी के साथ कोर्ट ने बिहार सरकार को मामले में और मोहलत देने मना कर दिया है। साथ ही सीबीआई को हर मुमकिन मदद करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने साफ तौर पर कहा है कि जांच कर रहे सीबीआई अधिकारी का तबादला नहीं किया जाए। बिहार सरकार ने जांच सीबीआई को सौंपे जाने का पुरजोर विरोध किया। सरकार के वकील ने कहा कि इस तरह साले मामलों की जांच सीबीआई को सौंपे जाने से गलत संदेश जाएगा।सरकार के वकील ने कहा कि सरकार को एक हफ्ते का और  समय दिया जाना चाहिए। एक हफ्ते में जांच की स्टेटस रिपोर्ट देखने के बाद ही कोर्ट को कोई आदेश पारित करना चाहिए। जस्टिस लोकुर ने नाराजगी जताते हुए कहा कि अगर राज्य सरकार ने ठीक ढंग से जांच किया होता तो इसे सीबीआई को देने की जरूरत नहीं पड़ती। गौरतलब है कि मंगलवार को शेल्टर होम में बच्चों के साथ यौन शोषण के मामलों में कार्रवाई न होने पर  कोर्ट ने बिहार सरकार को कड़ी फटकार लगाई थी। कहा ने कहा था कि 'ये शर्मनाक कि सरकार दोषियों को बचाने में लगी है। क्या बच्चे देश का हिस्सा नही है।'



कोर्ट की नाराजगी इस बात को लेकर थी  कि कुछ बच्चे इन शेल्टर होम में दुष्कर्म  का भी शिकार हुए लेकिन पुलिस ने धारा 377 के तहत मामला दर्ज़ न कर हल्की धाराओं में मामला दर्ज़ किया।बिहार सरकर ने कोर्ट में ग़लती मानी। कोर्ट ने राज्य के चीफ सेक्रेटरी को कल दो बजे होने वाली सुनवाई से पहले  ग़लती सुधारने को कहा। कोर्ट ने कहा कि जिस तरह बिहार पुलिस इस मामले में जांच कर रही है शेल्टर होम्स की सच्चाई कभी भी सामने नहीं आ पाएगी। क्योंकि न तो FIR दर्ज हो रहा है न ही दोषियों की गिरफ्तारी हो रही है।ऐसे में क्यों न इन मामलों की जांच सीबीआई को सौंप दिया जाय। कोर्ट ने सीबीआई के वकील से कहा कि 'आप इंस्ट्रक्शन लेकर कल तक बताएं कि क्या CBI इन सभी 17 शेल्टरहोमस की जांच करेगी ! आज सीबीआई के वकील ने कोर्ट को बताया कि सीबीआई जांच के लिए तैयार है लेकिन चूंकि इसके लिए अतिरिक्त संसाधन की जरूरत होगी। कोर्ट ने बिहार सरकार से जांच में सीबीआई को सहयोग करने का भी आदेश दिया है। इस बीच सीबीआई के वकील ने बताया कि मुजफ्फरपुर शेल्टरहोम मामले में 7 दिसंबर तक चार्जशीट फ़ाइल हो जाएगी।