image caption:

जिस तीन तलाक के कानून का भारत में हो रहा है विरोध, उसे और सख्त करने जा रहा है पाकिस्तान

Date : 2018-11-28 01:14:00 PM

भारत में भले ही तीन तलाक के मुद्दे पर मोदी सरकार के कड़े कदम का कुछ सियासी पार्टियां और सामाजिक संगठन विरोध कर रहा हो, वहीं पड़ोसी पाकिस्तान को भारत सरकार की ये पहल भा गई है। भारत की तर्ज पाकिस्तान भी अपने यहां तीन तलाक के प्रावधान को कड़ा करना चाहता है। भारत के नक्शेकदम पर चलते हुए पाकिस्तान भा अपने यहां तीन तलाक के मसले पर सख्त कानून बनाने में जुट गया है। अगर सबकुछ ठीक रहा तो जल्द ही पाकिस्तान में भी तीन तलाक से संबंधित कानून को और सख्त किया जा सकता है। जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान तीन तलाक देने की सूरत में सख्त सजा पर मंथन कर रहा है। पाकिस्तान इस मामले में शरीयत के प्रावधानों के तहत सीआईआई में जल्द बड़ा बदलाव करने पर विचार कर रहा है।काउंसिल ऑफ इस्लामिक आइडोलॉजी यानी सीआईआई ने संकेत दिया है कि वो इसको अवैध और दंडनीय करार देगी। 


काउंसिल के सदस्यों के बीच लंबी बहस के बाद तुरंत तीन तलाक के कानून पर जरूरी संशोधन किए जाएंगे। काउंसिल के चेयरमैन डॉ. किबाला अयाज ने कई मामलों में एक बार तीन तलाक बोलने तलाक लेने पर चिंता जाहिर की है। पाकिस्तान में तुरंत तीन तलाक पर 1961 से ही बैन है लेकिन किसी सजा का प्रावधान नहीं होने पर लोग धड़ल्ले से इस तलाक को हरकत में ला रहे हैं। बताया जा रहा है अगर पाकिस्तान में किसी ने एक बार में तीन तलाक बोलकर तलाक लेने की कोशिश की, तो उस पर दंड लगाया जाएगा। काउंसिल के बहुत से लोग इसे शरीयत और अल्हे हैदी धार्मिक संस्था के अनुसार बिल्कुल खत्म करने के पक्ष में हैं।सीआईआई आज जो भी फैसला करेगी, वो शरीयत के प्रावधानों और दायरों में रहते हुए ही करेगी। सीआईआई ने अपनी चर्चा में भारत के सुप्रीम कोर्ट के इस बारे में आए फैसले की चर्चा की, जिसमें भारत के सुप्रीम कोर्ट ने एक बार में त्रिपल तलाक को गैरकानूनी घोषित कर दिया है।