BREAKING NEWS

image caption:

धुएं से पड़ोसन को आया दमे का अटैक, रोका तो भांजे के सिर पर मारी तलवार,

Date : 2018-11-26 11:15:00 AM

 जालंधर-(रवि गिल,सुशिल हंस)-पड़ोसियों द्वारा प्लास्टिक को आग लगाने को लेकर हुए मामूली झगड़े ने खूनी विवाद का रूप ले लिया। इस विवाद में एक पक्ष ने दूसरे पक्ष के एक व्यक्ति के सिर पर तलवार मार दी, जिससे उसे 17 टांके लगे और बामुश्किल जान बची।ट्रामा वार्ड में गंभीर घायल अवस्था में दाखिल बिलगा के रहने वाले 26 वर्षीय आकाश शर्मा ने बताया कि वह बिलगा में अपने ननिहाल घर में ही रहता है। शनिवार रात उनके पड़ोसी घर के बाहर प्लास्टिक के लिफाफे जला रहे थे। इससे उठे जहरीले धुएं उनकी मामी जानकी, जो कि दमे की मरीज हैं उनको दौरा आ गया। उन्होंने पड़ोसियों को ऐसा करने से रोका तो उनके घर की महिलाओं ने घर में जबरन दाखिल होकर उनकी मामी को धक्के मारने शुरू कर दिए। उसने बीच बचाव कर उन्हें ऐसा करने से रोका। इसके बाद पड़ोसियों के लड़के ने उन्हे देख लेने की धमकी दी। घायल आकाश ने बताया कि वह रविवार को सुबह साढ़े चार बजे उठकर पहले रोजाना की तरह गोशाला में सेवा करने के लिए गया। 


करीब आठ बजे वह गोशाला से निकल कर मंदिर में पूजा करने के लिए जा रहा था तो पड़ोसी के लड़के ने अपने चार साथियों के साथ हाथ में तलवारे लहराते हुए उसका रास्ता रोक लिया। उसके बाद उसे जान से मारने के इरादे से तलवारों के साथ जानलेवा हमला कर दिया। तलवार का एक वार उसके सिर में लगा और वह लहुलुहान होकर गिर पड़ा। उसे जमीन पर बेसुध देख हमलावरों उसे मृत समझ कर हमलावर वहां से फरार हो गए। आरोप : हमलावर खुद भी ब्लैड मार अस्पताल पहुंचेगंभीर हालत मे उसके घरवालों ने सिविल अस्पताल जालंधर के ट्रामा वार्ड में दाखिल करवाया। इलाज के दौरान उसके सिर में 17 टांके लगाए गए। आकाश शर्मा ने बताया कि शाम पांच बजे तक कोई भी पुलिस वाला उसका बयान दर्ज कर हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करने के लिए अस्पताल नहीं पहुंचा। आकाश ने दावा कि फर्जी क्रास केस दर्ज कराने के लिए हमलावर खुद को भी ब्लेड से छोटे मोटे जख्म लगा कर अस्पताल में भर्ती होने के लिए आ गए लेकिन उन्हें दाखिल नहीं किया गया।