BREAKING NEWS

image caption:

करतारपुर कॉरिडोर खोलने की मंजूरी पर बोले नवजोत सिंह सिद्धू- 'मेरा गले मिलना रंग लाया'

Date : 2018-11-23 03:59:00 PM

पाकिस्तान में सीमा के पास स्थित सिखों के पवित्र धार्मिक स्थल करतापुर साहिब गुरुद्वारे के दर्शन के लिए करतारपुर साहिब कॉरिडोर के ऐलान के बाद अब इसका श्रेय लेने की राजनीति शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता और पंजाब में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तान के आर्मी चीफ कमर बाजवा को उनकी 'झप्पी' के कारण ही यह मुमकिन हुआ है। बकौल सिद्धू, उनकी यह विवादित झप्पी आखिर रंग लाई है।बता दें कि सिद्धू के पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में शामिल होने और बाजवा से गलने मिलने पर खूब विवाद हुआ था। उधर, बीजेपी ने सिद्धू के इस बयान की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि करतारपुर साहिब तक कॉरिडोर बनाने की घोषणा भारत सरकार ने की है। केंद्र सरकार ने गुरुवार को पंजाब के गुरदासपुर जिले से करतारपुर साहिब तक कॉरिडोर बनाने का ऐलान किया था। पंजाब सरकार के मंत्री सिद्धू इसका श्रेय खुद को दे रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, 'वह गले मिलना तो रंग ले आया, वह तो 15-16 करोड़ लोगों के लिए अमृत सिद्ध हुई। कम से कम वह राफेल डील तो नहीं था।' 

सिद्धू मध्य प्रदेश में चुनावी दौरे पर थे, इसी दौरान उन्होंने मीडिया के एक सवाल के जवाब में यह बयान दिया। सिद्धू के पाकिस्तान आर्मी चीफ कमर बाजवा से गले मिलने पर बीजेपी ने जमकर आलोचना की थी। सिद्धू इसी मसले पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे थे। उधर, करतार सिंह कॉरिडोर पर कांग्रेस भी सिद्धू के साथ खड़ी दिखाई दे रही है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि केंद्र सरकार को अब सिद्धू की बात समझ आ रही है। उन्होंने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू खुद को रोक नहीं पाए थे और इमरान के शपथग्रहण समारोह में पाकिस्तान गए थे । उस समय बीजेपी ने आसमान सिर पर उठा लिया था और उन्हें देश द्रोही तक कह डाला था। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने सिद्धू पर कटाक्ष करते हुए कहा कि सिद्धू भारत सरकार को धन्यवाद देने के बजाय पाकिस्तान आर्मी के चीफ को थैंक्स कह रहे हैं। पात्रा ने कहा, 'सिद्धू जी थोड़ा तो शर्म करिए। रह रहकर इमरान खान, इमरान खान कर रहे हैं। सिद्धू कह रहे हैं कि यह पाकिस्तान के कारण खुला है, जबकि गुरुवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने करतारपुर साहिब तक कॉरिडोर बनाने की घोषणा की थी।' 

हालांकि नवजोत सिंह सिद्धू ने फैसला आने के बाद गुरुवार को ट्वीट कर सरकार का शुक्रिया अदा किया था। उन्होंने लिखा, 'मैं तहे दिल से भारत सरकार को धन्यवाद करता हूं। मैं पाकिस्तान के सम्मानीय प्रधानमंत्री इमरान खान साहब से करतारपुर कॉरिडोर खोलने के लिए मिलकर कदम उठाने की गुजारिश करता हूं।' बता दें कि सिख समुदाय के लिए करतार साहब काफी मायने रखता है। यह सिखों का पवित्र तीर्थ स्थल है जहां गुरुनानक देव ने अपने जीवन के 18 साल बिताए थे। कैबिनेट ने फैसला किया है कि डेरा बाबा नानक जो गुरुदासपुर में है, वहां से लेकर इंटरनैशनल बॉर्डर तक एक करतारपुर करॉरिडोर बनाया जाएगा। यह वैसा ही होगा, जैसे कोई बहुत बड़ा धार्मिक स्थल होता है। यहां पर वीजा और कस्टम की सुविधा मिलेगी। इसको व्यापक तरीके से करतार साहिब कॉरिडोर को बनाया जाएगा, यह 3 किलोमीटर का होगा। इसको भारत सरकार पूरी तरह से फंड करेगा। सुल्तानपुर लोदी जो गुरुनानक देवजी के जन्म के साथ संबंधित है, वहां हेरिटेज टाउन के रूप में विकसित किया जाएगा। उसको स्मार्ट सिटी की तरह विकसित होगी।