BREAKING NEWS

image caption:

अमृतसर हाईवे पर नहर के पास एक्टिवा की तेज रफ्तार कार से आमने-सामने हुई टक्कर।

Date : 2018-11-22 11:26:00 AM

जालंधर-(रवि गिल,साहिल हंस)-अमृतसर हाईवे पर फोकल प्वाइंट नहर के पास बुधवार दोपहर एक्टिवा की तेज रफ्तार कार से आमने-सामने की टक्कर हो गई। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि एक्टिवा चला रहे रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर (आरएमपी) अरिजीत के पीछे बैठी उसकी मां दर्शना देवी उछलकर कार के बोनट व फ्रंट शीशे से टकरा गई और सड़क पर सिर के बल जा गिरी। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, अरिजीत गंभीर घायल हो गया, उसका कूल्हा टूट गया। महिला और उसका घायल बेटा बुलंदपुर के रहने वाले हैं। कार चालक ने कार भगाने की कोशिश की पर एक्टिवा नीचे फंस जाने के कारण नाकाम रहा। बाद में, राहगीरों ने उसे काबू कर पुलिस के हवाले कर दिया।लोगों ने एंबुलेंस के लिए फोन किया लेकिन एंबुलेंस बीस मिनट तक नहीं पहुंची। कुछ दूरी पर ही पुलि नाका था लेकिन करीब बीस मिनट में एक भी पुलिस वाला मौके पर नहीं पहुंचा। घायल आरएमपी अरिजीत वहां बीस मिनट तक दर्द से तड़पता रहा। कुछ लोगों ने जिम्मेदारी निभाते हुए एक ऑटो में उसे एक निजी अस्पताल पहुंचाया।मौके पर पहुंची डिवीजन नंबर 1 और 8 की पुलिस हदबंदी को लेकर एक दूसरे से उलझी नजर आई और हादसे वाली जगह को एक दूसरे का एरिया बताती रही। अंत में एरिया 8 नंबर के होने की पुष्टि के बाद थाना नंबर आठ की फोकल प्वाइंट चौकी ने हादसे पर कार्रवाई शुरू की।


 राहगीरों ने कहा कि दुर्घटनाग्रस्त कार काफी गति मे थी और शायद चालक ने शराब पी हुई थी।हादसे के बाद कार चालक ने भागने की कोशिश की तो लोगों ने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। बाद में चालक के बारे में पूछने पर फोकल प्वाइंट चौकी प्रभारी संजीव कुमार व ड्यूटी अफसर भूपेंद्र ने कहा कि आरोपित को थाना-1 की पुलिस अपने साथ ले गई है। जब थाना-8 की पुलिस से पूछा गया तो उन्होंने बात फोकल प्वाइंट चौकी पुलिस पर डाल दी और कहा कि वे आरोपित को अपने साथ नहीं लाए हैं। बाद में फोकल प्वाइंट चौकी के प्रभारी संजीव कुमार ने कहा कि शायद ड्राइवर मौके पर जुटी भीड़ का फायदा उठा कर भाग गया है। इससे पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़ा हो रहा है।फोकल प्वाइंट चौकी के प्रभारी संजीव कुमार ने बताया कि कार को कब्जे में ले लिया गया है। कार जसविंदर सिंह निवासी मोहाली चला रहा था। वह अपने बेटे-बहू व पत्नी के साथ अमृतसर से आ रहा था। हादसे में दर्शना की मौत हो गई है और उसके घायल आरएमपी डॉक्टर बेटे का इलाज शुरू हो गया है। फिलहाल उसकी नाजुक बनी हुई है। उसके होश में आने पर उसके बयान दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। दर्शना अपने बेटे के साथ करतारपुर से अपने एक रिश्तेदार की शोकसभा से होकर आ रही थी। उनके पति एक गुरुद्वारे में पाठी थे। उनकी पहले ही मौत हो चुकी है। उनका एक बेटा अमेरिका में सेटल है।