image caption:

ट्रंप और इमरान में तेज हुआ ट्विटर वॉर, पाक पीएम ने फिर दिया जवाब

Date : 2018-11-20 03:04:00 PM

अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान में ट्विटर वॉर जारी है। सबसे पहले ट्रंप ने यह कहते हुए पाकिस्तान को लाखों डॉलर की सैन्य सहायता रोकने के अपने प्रशासन के फैसले का समर्थन किया और कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद पर अंकुश पाने के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाए। इसके जवाब में इमरान खान द्वारा भी लगातार तीन ट्वीट किए गए। इमरान खान ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि अफगानिस्तान में अपनी विफलताओं के लिए पाकिस्तान को ‘बलि का बकरा’ बनाने के बजाय अमेरिका को यह पता लगाना चाहिए कि तालिबान पहले से भी अधिक मजबूत होकर क्यों उभरा है?इस पर ट्रंप ने पलटवार करते हुए ट्वीट किया, 'बिल्कुल, हमने ओसामा बिन लादेन का पकड़ा था। मैंने 9/11 वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले से पहले इसका जिक्र अपनी किताब में किया था। तत्कालीन राष्ट्रपति क्लिंटन इससे चूक गए थे। 


हमने पाकिस्तान को अरबों डॉलर की मदद की लेकिन उसने कभी ये नहीं बताया कि ओसामा वहीं रह रहा है।'अपने अगले ट्वीट में ट्रंप ने लिखा, 'हमने पाकिस्तान को इसलिए वित्तीय सहायता देना बंद किया क्योंकि हमरा पैसा ले रहे थे लेकिन हमारे लिए कुछ नहीं कर रहे थे। बिल लादेन और अफगानिस्तान इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। वे ऐसे देशों से हैं जिन्होंने अमेरिका से लिया बहुत कुछ लेकिन दिया कुछ नहीं।' ट्रंप के ट्वीट पर एक बार फिर पलटवार करते हुए इमरान खान ने ट्वीट कर कहा, 'ट्रम्प के झूठे दावे पाकिस्तान को अपमानित करते हैं। पाकिस्तान को अस्थिरता और आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा। उन्हें ऐतिहासिक तथ्यों को जानने की आवश्यकता है। पाकिस्तान को अमेरिकी युद्ध से काफी नुकसान का सामना करना पड़ा है। अब हम अपने लोगों और उनकी भलाई के लिए सबसे अच्छा काम करेंगे।इससे पहले इमरान खान ने अपने ट्वीट में लिखा था, ‘पाकिस्तान के खिलाफ ट्रंप के बयान पर रिकार्ड को सीधा-सीधा सामने रखने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ अमेरिका की लड़ाई में भाग लेने का फैसला किया जबकि 9/11 के हमले में कोई भी पाकिस्तानी शामिल नहीं था। इस लड़ाई में पाकिस्तान ने अपने 75,000 लोग गंवाएं और 123 अरब डॉलर से अधिक की बर्बादी हुई।’