BREAKING NEWS

image caption:

रिलायंस कम्यूनिकेशंस और रिलायंस टेलिकॉम के बैंक खातों में महज 19 करोड़ रुपये!

Date : 2018-11-07 03:08:00 PM

 कोलकाता-(07-11-2018)-रिलायंस टेलिकॉम और उसकी यूनिट रिलायंस कम्यूनिकेशंस लि. के सभी 144 बैंक खातों में कुल मिलाकर 19.34 करोड़ रुपये बचे हैं। अमेरिकन टावर कॉर्प की ओर से दायर मुकदमें के सिलसिले में दिल्ली हाई कोर्ट को दी गई ऐफिडेविट में दोनों कंपनियों ने यह कहा है। बॉस्टन की कंपनी अमेरिकन टावर कॉर्प ने आरकॉम पर करीब 230 करोड़ रुपये बकाये का दावा किया है। इधर, 46 हजार करोड़ रुपये के कर्ज तले दबी अनिल अंबानी की इस कंपनी ने पिछले साल अपना वायरलेस बिजनस बंद कर दिया क्योंकि उसका रेवेन्यू लगातार घट रहा था जबकि घाटे में वृद्धि हो रही थी। आरकॉम को इसी वर्ष बैंकरप्ट्सी प्रोसिडिंग्स में घसीटा जा रहा था, लेकिन वह बच गई।


 उसने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया कि 119 बैंक खातों में उसके 17.86 करोड़ रुपये हैं जबकि उसकी सब्सिडियरी कंपनी आरटीएल ने कहा कि उसके 25 बैंक खातों में 1.48 करोड़ रुपये के आसपास जमा हैं। इकनॉमिक टाइम्स ने ये ऐफिडेविट्स देखे हैं। दोनों कंपनियों ने अक्टूबर में अपनी-अपनी ऐफिडेविट जमा करते हुए बैंक स्टेमेंट्स मुहैया कराने के लिए कोर्ट से मोहलत मांगी। अगली सुनवाई 13 दिसंबर को होगी। मामले से वाकिफ एक व्यक्ति ने ईटी को बताया कि टावर कंपनी ने आरकॉम और आरटीएल पर एग्जिट फी और सर्विस चार्जेज के रूप में करीब 230 करोड़ रुपये का दावा ठोंक रखा है। उसके मुताबिक, आरकॉम ने दिसंबर महीने में वायरलेस सर्विसेज रोक दी थी, इसलिए उसे टावर लीज अग्रीमेंट से हटने के लिए पेमेंट्स देने होंगे।