BREAKING NEWS

image caption:

जाकिर मूसा ने करवाए थे मकसूदां थाने में बम धमाके,

Date : 2018-11-06 11:16:00 AM

जालंधर-(रवि गिल,सुशिल हंस)-डेढ़  महीना पहले जालंधर के मकसूदां थाने में हुए चार धमाके अंसार-गजवत-उल-हिन्द यानि हिंदुस्तान के खिलाफ जंग नामक संगठन के सरगना व अलकायदा के पूर्व कमांडर आतंकी जाकिर मूसा ने करवाए थे। सोमवार को यह खुलासा शहर से पकड़े गए दो और कश्मीरियों ने पुलिस पूछताछ में किया है। हालांकि इनका कहना है कि ये तो सिर्फ साथ आए थे, बम इन्होंने नहीं फेंके। बम फेंकने वाले इनके साथी अभी फरार हैं।घटना 14 सितंबर की शाम 7 बजकर 26 मिनट की है। मकसूदां थाने के आसपास लोगों को सिलसिलेवार चार धमाकों की आवाज सुनाई दी, धमाके की आवाज सुनने पर हड़कंप मच गया। पता चला कि ये धमाके थाने में ही हुए हैं। देखते ही देखते मौके पर जमावड़ा लग गया। कम शक्तिशाली धमाकों की घटना में एसएचओ रमनदीप सिंह की आंख और बगल में कांच का टुकड़ा लगा। इलेक्शन ड्यूटी पर आए मंड चौकी के हवलदार परमिंदर जीत सिंह उर्फ पाला पहलवान के सीने से खून बहने लगा।


 अस्पताल में भर्ती कराए जाने पर उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। घटना के दिन डीजीपी भी शहर के दौरे पर थे। ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो गए।सोमवार को देर शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत भुल्लर ने बताया कि मकसूदां थाने में बम धमाके जाकिर मूसा ने करवाए थे। यह कश्मीरी छात्र आतंकवादी जाकिर मूसा के संपर्क में थे, जिसके इशारे पर धमाकों को अंजाम दिया गया। इनमें दो को गिरफ्तार कर लिया गया है, जो सेंट सोल्जर कॉलेज से हैं। इनकी पहचान शहीद क्यूब पुत्र अब्दुल क्यूब निवासी नूरपुर और फैजल वासिर पुत्र अहद पीचू निवासी घाट मोहल्ला अवंतिपुरा जम्मू-कश्मीर के तौर पर हुई है। इनका संबंध आतंकी संगठन एजीएच से है। जाकिर मूसा एजीएच का सरगना है। भुल्लर ने कहा कि आगे के मामले की जांच जारी है।