BREAKING NEWS

image caption:

पहाड़ों पर भारी बर्फबारी, बिछी बर्फ की सफेद चादर

Date : 2018-11-05 04:28:00 PM

नई दिल्ली-(05-11-2018)-पिछले चौबीस घंटे से पहाड़ों पर सफेद कहर टूट रहा है। आसमान से लगातार बर्फबारी हो रही है और ज़मीन पर रहने वाले इसकी चपेट में हैं। कश्मीर से केदारनाथ तक कोहराम मचा है। बद्रीनाथ,  केदारनाथ,  गंगोत्री और  यमुनोत्री सहित सभी जगह बर्फबारी का सिलसिला जारी रहने की वजह से मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गयी है। अचानक बदले इस मौसम से धामों में दर्शन कर रहे भक्तों को खुशी हो रही है तो वहीं दूसरी तरफ उम्रदराज तीर्थयात्रियों को इसकी वजह से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है,आसमान से लगातार बर्फ गिर रही है और ज़मीन पर जम रही है। बद्रीनाथ में भारी बर्फबारी से यहां का जनजीवन ठप पड़ गया है। बर्फबारी की वजह से सबकुछ जम सा गया है। पूरे इलाके में मानो सफेद इमरजेंसी लग चुकी है। रास्ते बंद हो चुके हैं। घरों की छत बर्फ से सफेद हो गई है। ठंड की वजह से लोग घरों में दुबके हैं। पूरे के पूरे इलाके में सन्नाटा पसरा है। मंदिर भी पूरे तरह से सफेद हो गए हैं। मंदिर की दीवारों पर मोटी मोटी चादर जम चुकी है। इन्ही बर्फ के बीच यहां मौजूद लोग दर्शन के लिए आते हैं। 

पिछले चौबीस घंटे से बद्रीनाथ में बर्फबारी हो रही है। बिजली ठप हो गई है। काली सड़कें सफेद हो कर बंद हो गई हैं।बर्फबारी से पर्यटक तो काफी खुश हैं, लेकिन जिन इलाकों में बर्फ ज्यादा गिरी है वहां लोगों की परेशानी भी ज्याद बढ़ गई है। हल्की हवाओं के बीच बर्फबारी होने की वजह से पारा भी लुढ़क गया है। बद्रीनाथ में दर्शन के लिए आए श्रद्धालु इनमें फंस गए हैं। अचानक मौसम बदलने की वजह कुछ लोग बीमार भी पड़ गए हैं। केदारनाथ धाम को भी कुदरत ने सफेद चादर ओढा दी है। पिछले 24 घंटे से लगातार केदारनाथ धाम में बर्फबारी हो रही है। केदारनाथ में 2 फीट से ज्यादा बर्फबारी हुई है। मुनोत्री और गंगोत्री धाम में भी लगातार बर्फबारी हो रही है। केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में बारिश और बर्फबारी की वजह के पारा इनता गिर गया है कि हर तरह जमाव की स्थित हो गई है। सड़कों से बर्फ हटाने के लिए लोगों को काम पर लगाया गया है। लेकिन मुश्किल ये है कि एक तरफ जहां बर्फ हटाई जा रही है वहीं दूसरी तरफ कुछ ही देर में बर्फ जम जाती है। भारी बर्फबारी से सुखी के पास गंगोत्री नेशनल हाइवे बंद हो गया है। बर्फबारी से कंचनजंघा ग्लेशियर के नीचे कुछ वहान भी फंसे हुए हैं। लगातार हो रही बारिश के चलते सैलानियों को दिक्कतें हो रही हैं। पहाड़ों पर पिछले चौबीस घंटे से लोग कराह रहे हैं लेकिन मौसम विभाग का कहना है कि अभी राहत मिलने की उम्मीद कम ही है। क्योंकि पहाड़ी इलाकों में हालात अभी और खराब होंगे।