BREAKING NEWS

image caption:

नाजायज कब्जे हटाने के लिए ‘चक्रव्यूह’ रचने लगा इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट

Date : 2018-11-02 11:58:00 AM

जालंधर-(02-11-2018)-लतीफपुरा के कब्जे हटाने के लिए इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट ऐसा ‘चक्रव्यूह’ रचने जा रहा है जिससे ट्रस्ट अपने लक्ष्य को हासिल कर सके और वर्षों पुराने कब्जे हट पाएं। इसके लिए ट्रस्ट को कड़ी मशक्कत करनी पड़ेगी क्योंकि इन कब्जों को हटाने के खिलाफ कांग्रेसी नेताओं ने मोर्चा खोल रखा है। प्रशासन के खिलाफ धरना लगाने वाली कांग्रेसी पार्षद अरुणा अरोड़ा इन कब्जों के मामले में राहत की मांग लेकर मेयर जगदीश राजा के साथ निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू से मिलने जा रही हैं। सिद्धू से राहत मिलना टेढ़ी खीर साबित हो सकता है क्योंकि सिद्धू फिलहाल एक्शन के मूड में नजर आ रहे हैं, जिसकी झलक पिछले समय के दौरान उनकी कार्रवाई से देखने को मिल चुकी है। इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट में पकड़ा गया करोड़ों का घोटाला भी इसका एक हिस्सा है। ट्रस्ट अधिकारी इस संबंध में कुछ भी कहने को तैयार नहीं लेकिन कब्जों को लेकर मीटिंगों का सिलसिला दिनभर चलता रहा। लतीफपुरा के लोगों को भिजवाए जाने वाले नोटिस ट्रस्ट द्वारा तैयार कर लिए गए हैं जिन्हें शुक्रवार को भिजवाना शुरू कर दिया जाएगा। इसमें 7 दिन का समय दिया जाएगा। ट्रस्ट अधिकारियों का कहना है कि यदि किसी व्यक्ति के पास जमीन की मलकीयत है या अन्य कोई सरकारी दस्तावेज हैं जो उन्हें वहां रहने का अधिकार देता हो वह पेश किया जाए।


 अधिकारियों का कहना है कि उक्त लोग कोर्ट में केस हार चुके हैं जिसके चलते बनती कार्रवाई की जाएगी। न्यू माडल टाऊन के साथ लगते लतीफपुरा की उक्त जमीन न्यू माडल टाऊन के बीच में से गुजरती है। इस जमीन को लेकर लंबे अर्से से कब्जे हटाने की कोशिश की जा रही है लेकिन इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट इसमें कामयाब नहीं हो पाया है। बीते दिनों नगर निगम द्वारा कार्रवाई करने की तैयारी की गई थी लेकिन नगर निगम ने इस कार्रवाई हेतु इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट को कहा है जिसके चलते ट्रस्ट द्वारा कार्रवाई की जा रही है।एक ओर जहां इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट तथा नगर निगम ने मॉडल टाऊन के साथ लगते लतीफपुरा और न्यू ग्रीन मॉडल टाऊन के बीच में से गुजरती 120 फुट रोड पर से अवैध कब्जे हटाने की पूरी तैयारी कर ली है और दीवाली खत्म होते ही कभी भी इस क्षेत्र में डिच चल सकती है, वहीं अब इन कब्जों को लेकर राजनीतिक रूप से नया घटनाक्रम हुआ है।मॉडल टाऊन वार्ड की कांग्रेसी पार्षद अरुणा अरोड़ा ने जहां कब्जाधारियों के समर्थन में आकर गत दिवस निगम और ट्रस्ट के खिलाफ रोष धरने का नेतृत्व किया वहीं इस विधानसभा क्षेत्र के विधायक परगट सिंह की धर्मपत्नी बरिन्द्रप्रीत कौर इन अवैध कब्जों के विरुद्ध सार्वजनिक रूप से मुखर हो गई हैं। विधायक की धर्मपत्नी ने पार्षद अरुणा अरोड़ा की फेसबुक वाल पर विचार व्यक्त करते हुए साफ कहा है कि एक साधारण वोटर और नागरिक होने के नाते वह आपके (अरुणा अरोड़ा) इस कदम से खुश नहीं हैं।