BREAKING NEWS

image caption:

सेहत विभाग ने 19 स्कैंनिंग सेंटरों का खंगाला रिकार्ड

Date : 2018-10-31 06:06:00 PM

जालंधर//(31-10-2018)-सेहत विभाग ने 19 स्कैंनिंग सेंटरों का रिकार्ड खंगाला। हालांकि सिविल सर्जन डॉ. राजेश कुमार बग्गा ने पीसीपीएनडीटी एडवायजरी कमेटी के साथ होने वाली बैठक में उक्त मामलों के बारे में फैसला करने की बात कही है। उन्होंने बताया कि सेहत विभाग ने भ्रूण लिंग जांच करने वालों के खिलाफ शिकंजा कसने के लिए चार टीमों को छापेमारी के लिए भेजा था।जिला परिवार कल्याण अधिकारी डॉ. सुरिंदर कुमार, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. तरसेम सिंह , जिला सहायक हेल्थ अफसर डॉ. टीपी सिंह, एसएमओ जतिंदर सिंह तथा डॉ. दविंदर  समरा की अगुआई में टीमों ने शहर के 19 स्कैनिंग सेंटरों में छापामारी कर रिकार्ड खंगाला। इस दौरान मिली खामियों को तुरंत प्रभाव से ठीक करवाया गया और उन्हें भविष्य में सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई। 


डॉ. सुरिंदर कुमार ने बताया कि सभी स्कैनिंग  सेंटरों व अस्पतालों को मुख्य द्वार पर सीसीटीवी कैमरे लगाने और स्केनिंग सेंटर में केवल एक दरवाजा रखने को कहा है। यदि दूसरा दरवाजा है तो उसे बंद कर विभाग को सूचित करने के निर्देश दिए हैं रेड के दौरान शर्मा स्कैनिंग  सेंटर, मक्कड़ अस्पताल, महाजन केयरविल अस्पताल, शरणजीत अस्पताल, विनय स्कैनिंग सेंटर, गुप्ता स्कैनिंग सेंटर, बेरी अस्पताल, मैट्रो अस्पताल, एडवांस स्कैनिंग सेंटर, एमएम अस्पताल, श्री स्केन सेंटर, छाबड़ा अस्पताल, मान स्कैनिंग  सेंटर, पनेशिया अस्पताल, अमरजीत अस्पताल, महिंदर स्केन सेंटर, संजीवनी अस्पताल तथा कमल अस्पताल में स्केनिंग सेंटरों का रिकार्ड खंगाला गया। सेहत विभाग ने बाघा अस्पताल भोगपुर पर अंबाला की टीम की छापामारी के बाद पांच दिन बाद अदालत में केस दर्ज कर दिया था। अरोड़ा स्कैनिंग  सेंटर करतारपुर में लोकल पुलिस की ओर से भ्रूण लिंग जांच के आरोपों के तहत मामला दर्ज किया था। जालंधर के वीएस स्कैनिंग सेंटर में छापेमारी के दौरान अन-ऑथोराइज्ड डॉक्टर स्कैनिंग करता पकड़ा गया था। सेहत विभाग तीन सप्ताह बाद भी दोनों सेंटरों के खिलाफ अदालती कार्रवाई करने में पिछड़ा हुआ है।