BREAKING NEWS

image caption:

निगम और इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के खिलाफ प्रदर्शन

Date : 2018-10-31 03:50:00 PM

जालंधर//(31-10-2018)-मॉडल टाउन इलाके के साथ सटे लतीफपुरा के लोगों ने मंगलवार दोपहर 12 बजे नगर निगम और इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के खिलाफ धरना देते हुए डेयरी चौक को जाम कर दिया। शाम छह बजे तक लोग धरने पर बैठक रहे। यही नहीं मॉडल टाउन वार्ड नंबर 27 की पार्षद अरुणा अरोड़ा के नेतृत्व में कुछ लोग सासद चौधरी संतोख सिंह से मिलने पहुंचे। पार्षद ने कहा कि जब तक गरीब लोगों को उनके घरों से बेदखल करने की कार्रवाई रोकने का ठोस आश्वासन नहीं मिल जाता, लोग धरने से नहीं उठेंगे। पार्षद ने मौके पर लोगों को चौक पर जाम न लगाने की अपील लेकर पहुंचे एसीपी नवीन कुमार से भी स्पष्ट कहा कि मसला हल नहीं होने तक धरना जारी रहेगा।धरने में शामिल लोगों ने इस दौरान निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और पार्षद रोहन सहगल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।


 लोगों का आरोप था कि इलाके में पार्षद का मैरिज पैलेस है। इसके चलते पार्षद इलाके के गरीब लोगों को उजाड़ना चाहता है। यह भी आरोप लगाए कि पार्षद ने ही शहर के दौरे पर आए निकाय मंत्री से लतीफपुरा में सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा होने की शिकायत की थी।गौरतलब है कि बीते 27 सितंबर को इंप्रूवमेंट ट्रस्ट कार्यालय में पहुंचे निकाय मंत्री नवजोत सिद्धू ने निगम और ट्रस्ट के अफसरों को शहर के लतीफपुरा इलाके में अतिक्रमण हटाने के निर्देश जारी किए थे। मंत्री के निर्देश पर निगम टीम द्वारा 31 अक्टूबर को लतीफपुरा में अतिक्त्रमण हटाने की कार्रवाई की जानी थी। इसी के विरोध में मंगलवार सुबह लतीफपुरा के लोग कमिश्नर से मिलने निगम कार्यालय पहुंचे थे। वहा किसी काम से पहुंचे पार्षद रोहन सहगल को देख लोग बेहद नाराज हो गए।लतीफपुरा के लोगों ने आरोप लगाया कि कमिश्नर ने लतीफपुरा में कार्रवाई करने के लिए वीडियोग्राफी भी करवाई और इस दौरान पार्षद रोहन सहगल भी उनके साथ रहे। कमिश्नर और रोहन सहगल के निगम कार्यालय से निकलने के बाद लतीफपुरा के लोग भी लौट आए और डेयरी चौक जाम कर वहा उन्होंने धरना दे दिया।

 इस दौरान महिलाएं और बच्चे भी शाम तक डटे रहे। धरने पर बैठीं चरनजीत कौर, रीता देवी, हरभजन कौर, मनड्क्षजदर कौर, बलड्क्षजदर कौर, पवन कौर, अमरजीत कौर, सोनिया आदि ने निकाय मंत्री और पार्षद सहगल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।पार्षद अरुणा अरोड़ा ने कहा कि काग्रेस की सरकार गरीबों की सरकार है पर निकाय मंत्री नवजोत सिंह गरीबों के साथ राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक ओर अमृतसर में दशहरा वाले दिन हुए रेल हादसे में मारे गए लोगों के बच्चों को सिद्धू गोद लेने की बात करते हैं पर वहीं, दूसरी ओर वही सिद्धू जालंधर में 70 सालों से लतीफपुरा में रह रहे गरीबों को उजाडऩे की कार्रवाई करवाना चाहते हैं। पार्षद ने कहा कि लोगों के मकान तोडऩे यदि डिच पहुंची तो उनकी लाश पर से ही उसे आगे गुजरना होगा।पार्षद रोहन सहगल ने कहा कि लतीफपुरा में होने वाली कार्रवाई से उनका कोई लेना-देना नहीं है पर पार्षद अरुणा अरोड़ा ने लोगों को भड़काकर उनके खिलाफ नारेबाजी करवा दी। सहगल ने कहा कि वो कमिश्नर को वेस्ट टू एनर्जी प्लाट लगवाने के लिए सुभाना ड्क्षपड में जमीन दिखाने ले गए थे। लतीफपुरा की तरफ वो गए ही नहीं। वे पार्षद अरुणा अरोड़ा की पार्टी के प्रदेश प्रधान से शिकायत करेंगे।