BREAKING NEWS

image caption:

इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट कार्यालय में फैले भ्रष्टाचार का हुआ पर्दाफाश, 3 पॉश कालोनियों में 68 जायदादों पर नाजायज कब्जे

Date : 2018-10-30 11:53:00 AM

जालंधर//(रवि गिल,सुशिल हंस)-इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट कार्यालय में फैले भ्रष्टाचार के एक और मामले का पर्दाफाश हुआ है। जो सच्चाई सामने आई है उसके मुताबिक ट्रस्ट की 3 पॉश कालोनियों में 68 जायदादों पर लोगों द्वारा नाजायज कब्जे किए हुए हैं लेकिन इस प्रॉपर्टी के प्रति अधिकारियों द्वारा बनती कार्रवाई नहीं की जा रही। आर.टी.आई. के माध्यम से उजागर हुए इस भ्रष्टाचार में जो पॉॅश कालोनियां शामिल हैं उनमें माडल टाऊन से सटा ऋषि नगर, जे.पी. नगर के पास स्थित कृष्णा नगर व संजय गांधी नगर शामिल हैं। कैलाश ठाकुर द्वारा मांगी गई आर.टी.आई. में उक्त केस सामने आया है व ट्रस्ट की कार्यप्रणाली की पोल खुल पाई है। ठाकुर ने 25-07-18 को ट्रस्ट कार्यालय में आर.टी.आई. डाली थी जिसमें ट्रस्ट की पॉश कालोनियों की स्कीमों पर हुए कब्जे के बारे में पूछा गया। इसका जवाब समय पर न मिलने के चलते ठाकुर द्वारा डिप्टी डायरैक्टर दफ्तर में अपील की गई। ट्रस्ट द्वारा दिए गए जवाब में बताया गया कि 68 जायदादों पर कब्जे हैं जिसका केस हाइकोर्ट में लंबित है। ठाकुर ने कहा कि ट्रस्ट की विभिन्न कालोनियों में 1,798 प्रॉपर्टियां विवादित हैं लेकिन ट्रस्ट अधिकारियों द्वारा बनती कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट 225 करोड़ का देनदार है और वित्तीय संकट से जूझ रहा है। आर्थिक तंगी के हालातों में व्यक्ति द्वारा रिकवरी को महत्व दिया जाना चाहिए लेकिन रिकवरी के स्थान पर अपने दफ्तर को बेचने जा रहा है जिससे साबित होता है कि ट्रस्ट के कई अधिकारियों की कार्यप्रणाली विवादित है। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट के 288 करोड़ रुपए के गुरु गोबिंद सिंह स्टेडियम पर पंजाब नैशनल बैंक ने कब्जा जमाया हुआ है जिस पर बैंक द्वारा सिंबॉलिक कब्जा भी लिया जा चुका है लेकिन ट्रस्ट स्टेडियम को छुड़वा पाने में असमर्थ है। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट अधिकारियों को चाहिए कि उचित कार्रवाई करके रिकवरी करे और कब्जे वाली जमीनों को छुड़ाने के लिए अपना पक्ष रखने के प्रयास तेज किए जाएं। ट्रस्ट द्वारा बेची जा रही प्रॉपर्टी को लेकर ट्रस्ट के चेयरमैन दिपर्वा लाकड़ा के साथ ट्रस्ट की ई.ओ. सुरिन्द्र कुमारी सहित अन्य अधिकारियों ने मुलाकात की। ट्रस्ट द्वारा करवाई जा रही नीलामी के संबंध में हुई इस मीटिंग में ट्रस्ट द्वारा तैयार की गई लिस्टें व अन्य दस्तावेज ट्रस्ट चेयरमैन को पेश किए गए। बताया जा रहा है कि इस संबंध में आने वाले दिनों मेें नीलामी संबंधी फाइल को चेयरमैन द्वारा क्लीयर किए जाने के बाद सरकार के पास परवानगी के लिए भेजा जाएगा। ट्रस्ट द्वारा 200 करोड़ से अधिक की प्रॉपर्टी नीलाम करवाई जानी है। ट्रस्ट द्वारा भेजे जा रहे नोटिस को लेकर कई लोग राशि जमा करवाने के प्रति दिलचस्पी दिखा रहे हैं जिससे ट्रस्ट को आमदन होने लगी है। बताया जा रहा है कि सोमवार को कई लोगों ने ट्रस्ट कार्यालय में कर्मचारियों से मुलाकात कर अपनी पैंडिंग राशि जानी जो जल्द जमा होने की उम्मीद है। ट्रस्ट अधिकारी इससे बूस्ट हुए हैं और नोटिस निकालने के काम में तेजी लाई जा रही है। इसका मुख्य कारण यह है कि ट्रस्ट के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा कामकाज में तेजी लाने के आदेश दिए जा चुके हैं।