BREAKING NEWS

image caption:

इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट कर्मचारी सैलरी लेने के लिए काम करते दिखे

Date : 2018-10-26 06:31:00 PM

जालंधर//(26-10-2018)-काम करने के प्रति ढीली कार्यप्रणाली के लिए जाने जाते इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट के कर्मचारी सैलरी लेने के तेजी से काम करते हुए नजर आए। सुबह से अपनी सीटों पर चिपके बैठे कर्मचारियों ने नीलामी करवाने के लिए जायदादों की सूची तैयार कर ली है, इसके साथ-साथ बड़ी संख्या में डिफाल्टरों को नोटिस जारी कर दिए गए। पिछले कई दिनों से ट्रस्ट स्टाफ को नीलामी के लिए सूची तैयार करने हेतु कहा जा रहा था लेकिन उक्त काम पूरा नहीं हो पा रहा था। ट्रस्ट की ई.ओ. सुरिन्द्र कुमारी ने आज कर्मचारियों को 2 काम दिए थे और कहा था इन्हें पूरा करने के उपरांत वेतन जारी कर दिया जाएगा। शाम तक उक्त दोनों काम पूरे हो गए और ट्रस्ट की ई.ओ. ने वेतन रिलीज कर दिया। नीलामी की सूची तैयार करने का पहला काम सबसे महत्वपूर्ण था जिसके पूरे होने के चलते ट्रस्ट को आॢथक रूप से मदद मिलेगी। फिलहाल जो लिस्ट तैयार की गई है उसमें 200 करोड़ के करीब की जायदादें शामिल हैं। नीलामी में 20 के करीब बड़ी जायदादें भी शामिल हैं जिसकी नीलामी से ट्रस्ट को बड़ी राशि मिलने की उम्मीद है। ट्रस्ट द्वारा ई-ऑक्शन करवाने का विकल्प भी खुला है। चीफ इंजीनियर मुकुल सोनी का कहना है कि जालंधर, अमृतसर, लुधियाना के ट्रस्टों में ई-ऑक्शन करवाने संबंधी सरकार से मंजूरी मिल चुकी है। ई-ऑक्शन से नीलामी प्रक्रिया में बेहद सुधार होंगे जिसका लाभ नीलामी देने वालों को भी होगा। 


मंदी की मार झेल रह इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट के पास मात्र 1 करोड़ के करीब बैंक बैलेंस है। इन्हांसमैंट के केस में सुप्रीम कोर्ट में 5 करोड़ रुपए जमा करवाए जाने हैं, जिसके चलते ट्रस्ट की ई.ओ. ने कर्मचारियों के वेतन रिलीज पर रोक लगा रखी थी। दीपावली नजदीक है और कर्मचारी को वेतन न मिलने के चलते परेशानी उठानी पड़ रही थी। इसी क्रम में आज ट्रस्ट की ई.ओ. द्वारा वेतन जारी कर दिया गया जोकि 26 अक्तूबर को उनके अकाऊंट में आएगा। ट्रस्ट के कर्मचारियों का वेतन 35 लाख रुपए के करीब है, इसे जारी करने के बाद ट्रस्ट के बैंक अकाऊंट में 65 लाख के करीब राशि बचेगी। ट्रस्ट द्वारा अभी ठेकेदारों की बकाया राशि जारी नहीं की गई। ट्रस्ट की ई.ओ. सुरिन्द्र कुमारी का कहना है कि ट्रस्ट कर्मचारियों की ढीली कार्यप्रणाली को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यदि कर्मचारी काम के प्रति सजगता नहीं अपनाएंगे तो उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। सभी कर्मचारियों को सुबह समय पर आने के लिए कहा गया है ताकि पब्लिक को काम करवाने में किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े।