BREAKING NEWS

image caption:

रविन्द्र पाल सिंह चड्ढा ने मानहानि का मुकद्दमा दर्ज करने की दी धमकी

Date : 2018-10-26 04:22:00 PM

जालंधर//(26-10-2018)-पार्षद हाऊस की गत दिवस हुई बैठक में कांग्रेसी पार्षद कंवलजीत कौर गुल्लू ने शहर के 2 आर.टी.आई. एक्टीविस्ट सिमरनजीत सिंह और रविन्द्रपाल सिंह चड्ढा को ब्लैकमेलर बताते हुए उन्हें ब्लैक लिस्ट करने का प्रस्ताव पेश किया था। अब रविन्द्र पाल सिंह चड्ढा ने प्रस्ताव पेश करने और उस पर हस्ताक्षर करने वाले पार्षदों के विरुद्ध अदालत में जाने और मानहानि का मुकद्दमा दर्ज करने की धमकी दी है। ,आज कमिश्रर को लिखे पत्र में रविन्द्रपाल सिंह चड्ढा ने पार्षद गुल्लू पर कई तरह के आरोप लगाए और कहा कि जिन पार्षदों ने प्रस्ताव पर हस्ताक्षर किए हैं उनमें से ज्यादातर ने उन्हें देखा तक नहीं होगा। ब्लैकमेङ्क्षलग की शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई जाती है। भारत सरकार ने आर.टी.आई. के रूप में लोगों को जो हक दिया है, भ्रष्ट नेताओं को कोई अधिकार नहीं कि अपने स्वार्थ हेतु उस हक को छीनें।पार्षद कंवलजीत कौर गुल्लू द्वारा पेश प्रस्ताव पर सीनियर डिप्टी मेयर सुरेन्द्र कौर, डिप्टी मेयर हरसिमरनजीत सिंह बंटी, बलराज ठाकुर, लखबीर बाजवा, पार्षद बलविन्द्र कौर, कमलेश ग्रोवर, निर्मल सिंह निम्मा, मनदीप जस्सल, रोहण सहगल, तरसेम लखोत्रा, विपिन चड्ढा, जसविन्द्र कौर, राधिका पाठक, सुशील कालिया, दीपक शारदा, देवेन्द्र सिंह रोणी, बंटी नीलकंठ, नीरजा जैन, वंदना, रजनी बाहरी, शमशेर सिंह खैरा, डौली सैनी, प्रवीणा शर्मा इत्यादि के हस्ताक्षर हैं।


गत दिवस पार्षद हाऊस की बैठक दौरान सीनियर डिप्टी मेयर सुरेन्द्र कौर द्वारा दिए गए प्रस्ताव को भी हाऊस ने पास कर दिया जिसमें कहा गया है कि जो भी शहर निवासी निगम में किसी दूसरे की शिकायत करता है तो उस शिकायत के साथ शिकायतकत्र्ता के आधार कार्ड की फोटो कापी व हल्फिया बयान/स्व:घोषणा पत्र, जो मैजिस्ट्रेट द्वारा तस्दीकशुदा हो, लगाया जाए। इस प्रस्ताव को भी हाऊस ने पास कर दिया है, जो अभी चंडीगढ़ से मंजूर होकर नहीं आया है परंतु यदि सरकार इस प्रस्ताव पर मोहर लगा देती है तो जालंधर निगम शायद पहला ऐसा निगम होगा, जहां लोगों को शिकायत देने से पहले एफीडेविट देना होगा और उसे भी मैजिस्ट्रेट के पास जाकर तस्दीक करवाना होगा। लोकतंत्र में क्या यह प्रक्रिया उचित होगी, यह अब सरकार के रवैए पर निर्भर है।