BREAKING NEWS

image caption:

सोहेल अहमद भट्ट ने ए.के.-56, पिस्टल व विस्फोटक सामग्री लेकर जानी थी श्रीनगर

Date : 2018-10-26 01:27:00 PM

जालंधर-(26-10-2018)- सी.टी. इंस्टीच्यूट से पकड़े गए आतंकियों के बाद जे. एंड के. से गिरफ्तार करके लाए गए सोहेल अहमद भट्ट ने ए.के.-56, पिस्टल व विस्फोटक सामग्री श्रीनगर लेकर जानी थी जिसका कारण यह बताया जा रहा था कि घाटी में पुलिस व सेना की सख्ती के कारण मूसा हथियारों का जुगाड़ नहीं कर पा रहा था। सूत्रों की मानें तो आतंकियों का जालंधर में किसी भी तरह की वारदात करने का इरादा नहीं था। मूसा अपने आतंकियों के लिए हथियार व विस्फोटक सामग्री एकत्र कर रहा था।बताया जा रहा है कि धारीवाल व मानांवाला से हथियार लाने की ड्यूटी पहले सोहेल की लगी थी जिसने हथियार लेकर सीधा श्रीनगर के लिए रवाना होना था लेकिन सख्ती होने के कारण प्लान बदल लिया गया और सी.टी. इंस्टी‘यूशन में पढ़ रहे जाहिद गुलजार, इदरीस शाह व रफीक भट्ट को हथियार लाकर अपने पास संभाल कर रखने को कहा गया था। सूत्रों की मानें तो मूसा हथियार श्रीनगर ले जाने के लिए सही समय का इंतजार कर रहा था लेकिन इसी बीच जे. एंड के. पुलिस को हथियारों के बारे में इनपुट मिले और हथियारों समेत जाहिद गुलजार, रफीक भट्ट व इरदीस शाह को गिरफ्तार कर लिया गया। 



पुलिस अब इस बात का पता लगवा रही है कि धारीवाल व मानांवाला में हथियार कौन देने आया था। हथियार देने में खालिस्तानियों का भी नाम आ रहा है, लेकिन पुलिस अभी इस बात की पुष्टि नहीं कर रही। उधर ए.सी.पी. कैंट दलबीर सिंह का कहना है कि ए.के.-56 पर मेड इन जैसा कुछ नहीं मिला है। हालांकि पिस्टल जरूर विदेशी है लेकिन इस बात की जांच की जा रही है कि उन हथियारों की सप्लाई इन्हें कौन देकर गया। इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि हथियार बार्डर पार से नशा तस्करों की मदद से लाए गए हों। सूत्रों की मानें तो जाकिर मूसा जालंधर में भी एक शिक्षण संस्थान में पढ़ाई कर चुका है। चंडीगढ़ में भी मूसा पढ़ चुका है, लेकिन वहां बीच में ही उसने पढ़ाई बंद कर दी थी और श्रीनगर वापस चला गया था।