BREAKING NEWS

image caption:

बताया,क्यों और कैसे सूइसाइड की कोशिश से पहले की पत्नी की हत्या

Date : 2018-10-25 02:39:00 PM

गुड़गांव//(25-10-2018)-40 लाख रुपये का उधार वापस न मिलने और उधार लेने वाले के लापता होने के बाद तनाव में रहने वाले 77 साल के हरनेक सिंह ने बताया कि क्यों और कैसे उन्होंने अपनी पत्नी का गला घोटा। हरनेक सिंह ने पत्नी की हत्या करने के बाद सूइसाइड की कोशिश की, लेकिन वह बच गए और गंभीर हालत में अस्पताल ले जाए गए थे।गुड़गांव में डीएलएफ-2 के जे ब्लॉक में रहने वाले हरनेक सिंह शनिवार को अपने घर में बेसुध मिले थे, पत्नी की हत्या के बाद उन्होंने अपने हाथ की नस काट ली थी। बुधवार को उन्हें पत्नी की हत्या के आरोप में अरेस्ट कर लिया गया। सोमवार को अटॉप्सी के बाद पत्नी की हत्या की पुष्टि होने के बाद हरनेक पर आईपीसी की धारा 302 और 309(सूइसाइड की कोशिश) का केस दर्ज किया गया। डॉक्टरों द्वारा फिट घोषित  किए जाने के बाद बुधवार को हरनेक का बयान दर्ज करवाया गया। हरनेक ने बतााय कि दंपती ने सूइसाइड प्लान बनाया था, लेकिन पत्नी गुरमेल खुदकुशी नहीं कर पा रही थीं, इसलिए उन्हें उनका गला दबाना  पड़ा। पत्नी का गला दबाने के बाद उन्होंने अपनी कलाई काटी लेकिन वह बच गए। 



हरनेक ने बताया कि दोनों तनाव में थे क्योंकि 14 अक्टूबर को उनके घर आने के बाद से जसकरन सिंह (51) लापता था, जिसने उनसे 40 लाख रुपये लिए थे। जसकरन के परिवारवालों ने सेक्टर 29 के थाने में 16 अक्टूबर को उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी, जिसमें हरनेक और उनकी पत्नी पर शक जताया था। जसकरन की पत्नी मन्जीत कौर का कहना था कि वह 14 अक्टूबर को उनके घर गए थे, लेकिन उसके बाद से घर नहीं लौटे। वह हरनेक के घर गईं, लेकिन जसकरन नहीं मिले। इसके बाद पुलिस भी वहां गई लेकिन कुछ संदिग्ध नहीं मिला। इसके बाद उनके घर के बाहर जसकरन की पत्नी और कुछ रिश्तेदारों ने हंगामा किया, जिसकी वजह से हरनेक और उनकी पत्नी का तनाव बढ़ गया। डीएलएफ फेज-2 एसएचओ विष्णु प्रसाद ने कहा, 'हरनेक का कहना है कि वे तनाव में थे क्योंकि जसकरन की पत्नी उन्हें उनके लापता होने का जिम्मेदार बता रही थी।' पुलिस का कहना है कि हरनेक को कोर्ट में पेश कर 4 दिन की रिमांड मांगी जाएगी, ताकि यह पता लगाया जा सके कि कहीं जसकरन के लापता होने के पीछे उनका हाथ तो नहीं।