BREAKING NEWS

image caption:

दोनों पैर कटने के दर्द से ज़यादा अपने बचे को बचाने की ख़ुशी है .......

Date : 2018-10-24 03:04:00 PM

 झारखंड//(24-10-2018)-मां न दर्द जानती है और न मौत का डर। मां तो सिर्फ बच्चे की मुस्कान चाहती है। यह बात झारखंड के मेदिनीनगर में हुई घटना में साबित होती है। मेदिनीनगर के रेड़मा ओवरब्रिज के पास मंगलवार को कौड़िया गांव की सुचिता अपने 5 महीने के बच्चे को गोद में लिए ट्रैक पार कर रही थी, 


तभी मालगाड़ी आ गई। बच्चे को लिए सुचिता पटरी के बीचों बीच लेट गई।बच्चा बच गया, मगर उसके दोनों पैर कट गए। हादसे के बाद बेहोशी में भी सुचिता का हाथ बच्चे को ही ढूंढ़ता रहा। सुचिता की स्थिति नाजुक है। बच्चे को डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है। सुचिता के पति की फरवरी में मौत हो गई थी।