BREAKING NEWS

image caption:

ऑटो कॉर्ड से पेमेंट करने वाले हो जाएं सावधान,जाने क्या है पूरा मामला

Date : 2018-10-24 02:45:00 PM

नई दिल्ली //(24-10-2018)-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब डिजिटल इंडिया की शुरुआत की थी तो उन्होंने भी सपनें नहीं सोचा होगा कि डिजिटल इंडिया में भी शातिर ठग आम लोगों को लूटने का शातिराना रास्ता ढूंढ निकालेंगे। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई से सटे भायंदर में एक ऐसे ही अंतरराष्ट्रीय गिरोह का पर्दाफाश पुलिस ने किया है, जो लोगों के एटीएम और क्रेडिट कार्ड का डाटा चुराकर क्लोनिंग मशीन की मदद से डुप्लिकेट कार्ड बनाते और उसके बाद किसी दूसरे शहर में जाकर लोगों के बैंक अकाउंट से पैसों को निकाल लेते।अगर आप शॉपिंग मॉल, होटल्स व कहीं कुछ खरीदारी करने के लिए जाते है तो सावधान हो जाएं, खासकर तब जब आप अपने कार्ड के जरिए पेमेंट करते हैं। ऐसा न हो आपका कार्ड क्लोन कर लिया जाए और सारी जानकारी विशेष सॉफ्टवेयर के जरिए निकाल ली जाए। नवघर पुलिस ने दो ऐसे ही लोगों को गिरफ्तार किया है। एएसपी अतुल कुलकर्णी के मुताबिक़, इनके पास से ATM क्लोनिंग मशीन बरामद हुई है, जिसके जरिए यह एटीएम क्लोनिंग करते है। ये लोग मॉल, शॉपिंग सेंटर, हॉस्पिटल में मशीन लगाते थे।

 जब कोई कस्टमर जाता है और कार्ड स्वाइप करता है तो पूरा डाटा इनके पास आ जाता है। सॉफ्टवेयर की मदद से लैपटॉप के जरिए नया कार्ड क्लोन करते है और दूसरे शहरो में जाकर पैसे निकाल लेते थे।पकडे़ गए आरोपियों की पहचान किशोर भाई नैय्या और हेमंत जैन के रूप में हुई है। पुलिस को जानकारी मिली थी क‍ि मीरा रोड भायंदर में यह गैंग सक्रीय है। कई पीड़ितों ने बैंक को संपर्क किया कि अचानक उनके बैंक अकाउंट से पैसे निकाले गए, जिसके बाद पुलिस ने ऐसी जगहों की सीसीटीवी फुटेज की जांच शुरू, जिसमें आरोपियों के बारे में पहला सुराग मिला। इन दोनों आरोपियों को भायंदर से गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से आठ डेबिट कार्ड, स्केनर मशीन, तीन मोबाइल, लैपटॉप, माइक्रो ग्रिन्डर मशीन, मेग्नेटिक स्ट्रिप्स स्वाइप मशीन और कई बैंको के कार्ड बरामद हुए है।एएसपी अतुल कुलकर्णी ने बताया कि आरोपियों ने अपना गुनाह कबूला है और साथ ही दो अन्य आरोपियों के नाम सामने आए है। इस गैंग का शातिर सरगना  मास्टरमाईंड फिरोज और जीतू है, जो अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पुलिस के मुताबिक़ इसमें कई और आरोपी शामिल हो सकते है, जो नेशनल लेवल पर काम कर रहे है। पुलिस लगातार छापेमारी कर रही और आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।