BREAKING NEWS

image caption:

2 लाख करोड़ का कर्ज राज्य पर,लेकिन अमरिंदर सरकार खरीदेगी 80 करोड़ की गाड़ी

Date : 2018-10-22 06:55:00 PM

पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सरकार पर करीब 2 लाख करोड़ रुपये का कर्ज है, लेकिन इसके बावजूद भी कैप्टन अमरिंदर सरकार ने मुख्यमंत्री, मंत्रियों और वरिष्ठ नौकरशाहों के लिए लग्जरी गाड़ियों की खरीद को मंजूरी दे दी है। खबर के अनुसार, 16 लैंड क्रूजर गाड़ियों की खरीद को हरी झंडी दिखाई गई है, जिनमें से दो बुलेटप्रूफ हैं।

इसी के साथ मुख्यमंत्री के स्टाफ के लिए भी 13 महिंद्रा स्कॉर्पियो, मुख्यमंत्री के OSDs के लिए 14 मारुति डिजायर या होंडा अमेज या मारुति अर्टिगा खरीदने का प्रस्ताव भी दिया गया है। राज्य के परिवहन विभाग ने 16 लैंड क्रूज़र वाहन खरीदने की अनुमति दे दी है, जिनमें से दो बुलेटप्रूफ वाहनों का इस्तेमाल मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह करेंगे। मुख्यमंत्री के पास पहले से लग्जरी वाहनों का बेड़ा है, जिनमें 6 मित्सुबिशी मोंटेरो और अंबेसडर कार हैं। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अपने 17 कैबिनेट सहयोगियों के लिए भी टोएटा फॉर्चूनर वाहन खरीदने की मंजूरी दी है। जबकि राज्य सरकार विधायकों के लिए भी 97 टोएटा क्रेस्टा वाहन खरीदेगी।

इसके अलावा पंजाब सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और अकाली दल बादल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल के लिए नई बुलेटप्रूफ टोएटा लैंड क्रूज़र खरीदे जाने को अनुमति नहीं दी है। इसके लिए फंड की कमी का हवाला दिया गया है। पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल का कहना है कि बादल पिता-पुत्र को जो बुलेटप्रूफ वाहन पहले से उपलब्ध हैं, वो अच्छी हालत में हैं और उन्हें बदले जाने की आवश्यकता नहीं है।  

नए वाहन खरीदने से राज्य सरकार के खजाने पर 80 करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा। पंजाब सरकार पर 1,95,978 करोड़ रुपए के कर्ज का बोझ है। ऐसे में लग्जरी कारों की खरीद पर इतना पैसा खर्चे किए जाना अपने आप में सवाल उठाता है। इससे पहले प्रकाश सिंह बादल सरकार के कार्यकाल में भी 2016 में तत्कालीन मुख्यमंत्री, तत्कालीन उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के लिए 14 टोएटा लैंडक्रूजर, 100 टोएटा इनोवा और मारुति जिप्सी वाहन खरीदे गए थे जिन पर 12 करोड़ रुपए खर्च हुए थे।