BREAKING NEWS

image caption:

4 साल में 80% बढ़ी टैक्स भरने वालों की संख्या,कालेधन पर मोदी सरकार की कार्रवाई का दिखा असर

Date : 2018-10-22 06:10:00 PM

इनकम टैक्स विभाग के मुताबिक कालाधन रखने वालों और टैक्स की चोरी करने वालों के खिलाफ मोदी सरकार की कार्रवाई का इनकम टैक्स कलेक्शन पर बड़ा असर दिखा है। पिछले 4 वित्त वर्ष में यानी वित्त वर्ष 2014 के बाद से इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने वालों की संख्या 80 फीसदी बढ़ गई है। वहीं, 1 करोड़ से ज्यादा आय दिखाने वाले करदाताओं की संख्या भी इस दौरान 60 फीसदी बढ़ गई है। सेंट्रल बोर्ड आॅफ डायरेक्ट टैक्स (CBDT) ने सोमवार को इन आंकड़ों के बारे में जानकारी दी है।


आंकड़ों के अनुसार वित्त वर्ष 2013-14 में जहां कुल करदाता 3.79 करोड़ थे, वहीं, वित्त वर्ष 2017-18 में इनकी संख्या बढ़कर 6.85 करोड़ हो गई। इस दौरान 1 करोड़ से ज्यादा आमदनी दिखाने वालों की संख्या भी 60 फीसदी बढ़ी है। CBDT के अनुसार वित्त वर्ष 2017-18 में डायरेक्ट टैक्स-GDP रेश्यो 5.98 फीसदी रहा है जो पिछले 10 वित्त वर्षों में सबसे ज्यादा है। वित्त वर्ष 2014-15 में जहां 88,649 लोगों ने अपनी आय 1 करोड़ रुपये से ज्यादा घोषित की, वहीं आकलन वित्त वर्ष 2017-18 में इनकी संख्या बढ़कर 1.40 लाख हो गई। इसी तरह, वित्त वर्ष 2014-15 से वित्त वर्ष 2017-18 के बीच 1 करोड़ रुपये से ज्यादा की आय वाले इंडिविजुअल की संख्या भी 48,416 से बढ़कर 81,344 हो गई है। यानी 68 फीसदी ज्यादा।

सीबीडीटी के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने कहा कि करदाताओं की संख्या में इजाफा इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के प्रयासों का नतीजा है। इनकम टैक्स डिपार्मेंट की ओर से पिछले 4 सालों के दौरान कानून में सुधार, सूचना के प्रसार और कड़ाई से कानून का पालन करवाने की दिशा में उठाए गए कई कदम कारगर साबित हुए।