BREAKING NEWS

image caption:

माँ ही निकली बेटे की कातिल,कबूला अपना गुनाह

Date : 2018-10-22 01:12:00 PM

 यूपी विधान परिषद के सभापति रमेश यादव के बेटे अभिजीत यादव की हत्याकांड में बड़ा खुलासा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अभिजीत यादव की गला घोंटकर हत्या की पुष्टि के बाद पुलिस ने मां मीरा यादव को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि मां मीरा यादव ने अपना गुनाह भी स्वीकार कर लिया है। एसपी पूर्वी सर्वेश मिश्रा ने बताया कि मां बेटे अभिजीत की नशे की आदत से परेशान थीं। शनिवार रात को भी वह नशे की हालत में घर पहुंचा था। इसी को लेकर दोनों के बीच विवाद भी हुआ था। जिसके बाद मां ने बेटे की गला घोंटकर हत्या कर दी। पहले तो परिवार ने स्वाभाविक मौत की बात कही थी। लेकिन पोस्टमार्टम में हत्या की पुष्टि होने के बाद मां ने पूछताछ के दौरान अपराध स्वीकार कर लिया।


जानकारी के मुताबिक रमेश यादव के बेटे अभिजीत का शव संदिग्ध अवस्था में रविवार को हजरतगंज स्थित उनके निवास पर मिला था। परिवार ने बताया था कि शनिवार रात देर से घर आने पर उसने मां को सीने में दर्द होने की जानकारी दी थी।इससे पहले परिजन अभिजीत यादव का अंतिम संस्कार के लिए जा रहे थे लेकिन पुलिस के हस्तक्षेप के बाद पोस्टमॉर्टम कराया गया। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गला घोंटकर हत्या की पुष्टि होने के बाद पुलिस अब नए सिरे से मामले की जांच में जुटी ।सुबह परिजनों को अभिजीत मृत अवस्था में मिले। एसपी पूर्वी सर्वेश मिश्रा के अनुसार हत्या का शक मां मीरा यादव पर है। उन्होंने बताया कि मां बेटे अभिजीत की नशे की आदत से परेशान थीं। शनिवार रात को भी वह नशे की हालत में घर पहुंचा था। इसी को लेकर दोनों के बीच विवाद भी हुआ था। फिलहाल पुलिस जांच में जुटी है. सभी तथ्यों को खंगाला जा रहा है। 

इस बीच भाई अभिषेक की तहरीर पर हजरतगंज थाने में रविवार देर रात अज्ञात के खिलाफ हत्या व साक्ष्य छिपाने का केस दर्ज किया गया है। इससे पहले एडीजी लॉ एंड आर्डर आनंद कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अभिजीत के सिर पर वार करने और गला घोंटकर हत्या करने की पुष्टि हुई है। एसएसपी कलानिधि नैथानी से मामले में विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई है।इससे पहले परिजनों का कहना था कि अभिजीत के सीने में दर्द हुआ, जिसके बाद उसकी मौत हो गई। हालांकि अभिजीत के सिर पर चोट के निशान थे, जो कुछ और ही कहानी कह रहे थे। पोस्टमॉर्टम के बाद पुलिस ने शव को परिजनों को सौंप दिया। जिसके बाद रात 8 बजे अभिजीत का अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान सभापति रमेश यादव मौजूद थे। हालांकि उन्होंने मीडिया के किसी भी सवाल का कोई जवाब नहीं दिया।