BREAKING NEWS

image caption:

विराट कोहली ने सचिन को छोड़ा पीछे,डमैन के बाद सबसे कम पारियों में छुआ यह आंकड़ा

Date : 2018-10-05 02:46:00 PM

 भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट के दूसरे दिन अपना 24वां टेस्ट शतक पूरा किया। सबसे कम टेस्ट और पारियां खेलकर 24 शतक का आंकड़ा छूने के मामले में वे दूसरे नंबर पर पहुंच गए। उन्होंने 72वें टेस्ट की 123वीं पारी में यह उपलब्धि हासिल कर सचिन तेंडुलकर को पीछे छोड़ा। सचिन ने 80वें टेस्ट की 125वीं पारी में अपना 24वां शतक पूरा किया था। इस मामले में ऑस्ट्रेलिया के डॉन ब्रैडमैन शीर्ष पर हैं। ब्रैडमैन ने 43वें टेस्ट की 66वीं पारी में ही अपने शतकों की संख्या 24 कर ली थी। 


 राजकोट टेस्ट के दूसरे दिन भारत ने नौ विकेट पर 649 रन बनाकर पारी घोषित की। रविंद्र जडेजा 100 और मोहम्मद शमी दो रन पर नाबाद पवेलियन लौटे। जडेजा का यह करियर का पहला शतक और सर्वोच्च स्कोर है। इससे पहले उनका अधिकतम स्कोर 90 रन था जो उन्होंने 26 नवंबर, 2016 को मोहाली में इंग्लैंड के खिलाफ 90 रन बनाया था। इस टेस्ट में पृथ्वी, विराट और जडेजा ने शतक लगाए।

ऋषभ पंत अपना दूसरा टेस्ट शतक लगाने से चूक गए। वे 92 रन के स्कोर पर पवेलियन लौटे। उन्हें देवेंद्र बिशू की गेंद पर कीमो पॉल ने मिडविकेट पर लपका। विराट 139 रन बनाकर शेर्मन लेविस की गेंद पर मिड ऑन में देवेंद्र बिशू के हाथों लपके गए। लेविस का यह पहला टेस्ट है। विराट लेविस का दूसरा शिकार हैं। रविचंद्रन अश्विन ने टीम के स्कोर में सात रन का योगदान दिया। विशू की बाहर जाती गेंद ने उनके बल्ले का बाहरी किनारा लिया और विकेटकीपर शेन डॉर्विच ने उनका कैच पकड़ने में कोई गलती नहीं की। कुलदीप यादव विशू का चौथा शिकार बने। वे 12 के स्कोर पर एलबीडब्ल्यू हुए। पहले दिन भारत ने चार विकेट खोकर 364 रन बनाए थे। उमेश यादव का कार्लोस ब्रैथवेट ने लेविस के हाथों कैच कराया। उमेश ने 24 गेंद में 22 रन बना बनाए।

 

विराट ने ऑस्ट्रेलिया के ग्रेग चैपल, वेस्टइंडीज के विवियन रिचर्ड्स और पाकिस्तान के मोहम्मद यूसुफ के शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी की। उन्होंने वीरेंद्र सहवाग के 23 शतकों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा। विराट भारत की ओर से शतक लगाने वालों की सूची में चौथे स्थान पर हैं। इस टेस्ट के पहले दिन पृथ्वी शॉ ने भी कई रिकॉर्ड अपने नाम किए थे।

विराट ने भारत में खेलते हुए टेस्ट में अपने 3,000 रन पूरे किए। उन्होंने भारत में 33वें टेस्ट की 53वीं पारी में यह आंकड़ा छुआ। इस दौरान उन्होंने 11 शतक लगाए, इनमें पांच दोहरे शतक हैं। घरेलू मैदान पर उनका औसत 65 से ज्यादा रन का है। 

 

 विराट घर में सबसे तेज 3,000 रन बनाने के मामले में चेतेश्वर पुजारा के साथ संयुक्त रूप से चौथे नंबर पर हैं। इस मामले में डॉन ब्रैडमैन टॉप पर हैं। ब्रैडमैन ने सिर्फ 37वीं पारी में ही यह उपलब्धि हासिल कर ली थी। दूसरे नंबर पर पाकिस्तान के जावेद मियादाद और ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ हैं। दोनों ने अपनी 49वीं पारी में घरेलू मैदान पर 3,000 रन बनाए थे। गैरी सोबर्स, मोहम्मद यूसुफ और मैथ्यू हेडेन तीसरे नंबर पर हैं। 


विराट ने लगातार तीसरे साल टेस्ट क्रिकेट में एक कैलेंडर वर्ष में 1,000 रन का आंकड़ा पार किया। उन्होंने इस साल नौ टेस्ट में 59.88 की औसत से 1018 रन बनाए हैं। इसमें चार शतक और पांच अर्धशतक शामिल हैं।  विराट ने 2016 में 12 टेस्ट में 1215 रन और 2017 में 10 टेस्ट में 1059 रन बनाए थे। इस साल टेस्ट में रन बनाने के मामले में इंग्लैंड के जो रूट दूसरे नंबर पर हैं।  रूट ने 10 टेस्ट में 719 रन बनाए हैं। वहीं, दक्षिण अफ्रीका के एडन मार्करम तीसरे पर हैं। मार्करम के 9 टेस्ट में 660 रन हैं। 


विराट कोहली (कप्तान), लोकेश राहुल, पृथ्वी शॉ, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, कुलदीप यादव।  कार्लोस ब्रैथवेट (कप्तान), सुनील अंबरीश, देवेंद्र बिशू, रोस्टन चेज, शेन डॉर्विच, शॉननन गैब्रिएल, हेमिल्टन, हेटमायर, शाई होप, शेर्मन लेविस, कीमो पॉल, काइरेन पावेल, जोमेर वारिकैन और अल्जारी जोसेफ।