image caption:

दहेज प्रताडऩा केस में अब पीडि़त महिला के पति की केस दर्ज होते ही होगी गिरफ्तारी : सुप्रीम कोर्ट

Date : 2018-09-14 02:32:00 PM

नई दिल्ली : दहेज प्रताडऩा केस में अब पीडि़त महिला के पति और उसके ससुरालियों की केस दर्ज होने के तुरंत बाद गिरफ्तारी की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने अपने पूर्व के फैसले की समीक्षा के बाद उसमें बदलाव करते हुए परिवार को मिला सेफगार्ड खत्म कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी पीडि़त की सुरक्षा के लिए ऐसा करना जरूरी है। कोर्ट ने कहा कि शिकायतों के निपटारे के लिए परिवार कल्याण कमेटी की जरूरत नहीं है। कोर्ट ने आगे कहा कि इस मामले में आरोपियों के लिए अग्रिम जमानत का विकल्प खुला है।बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के दो जजों की बेंच ने पिछले साल दिए अपने फैसले में कहा था कि दहेज प्रताडऩा के केस में सीधे गिरफ्तारी नहीं होगी लेकिन इस फैसले के बाद चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली तीन जजों की बेंच ने कहा था कि दहेज प्रताडऩा मामले में दिए फैसले में जो सेफगार्ड दिया गया है उससे वह सहमत नहीं हैं। दो जजों की बेंच के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस की अगुवाई वाली तीन जजों की बेंच ने दोबारा विचार करने का फैसला किया था और सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था। आज कोर्ट ने उसे सार्वजनिक कर दिया और कहा कि एसा किया जाना पीडि़त की सुरक्षा के हित में नहीं होगा