BREAKING NEWS

image caption:

बड़ा उलटफेरः सेरेना ने अंपायर को कहा चोर, जापान की नाओमी ओसाका ने रचा इतिहास

Date : 2018-09-09 01:37:00 PM

नई दिल्ली : यूएस ओपन 2018 में खेले जा रहे महिला वर्ग के फाइनल मैच में एक बड़ा उलटफेर देखने को मिला। जी हां, अपने करियर में पहली बार यूएस ओपन के फाइनल में पहुंचने वाली जापान की नाओमी ओसाका ने इतिहास रचते हुए अमेरिका की दिग्गज खिलाड़ी सेरेना विलियम्स को सीधे सेटों में 6-2, 6-4 से मात दे डाली। ओसाका ने ये अपने करियर का पहला ग्रैंड स्लैम जीता है और इसके साथ ही ओकाका यूएस ओपन जीतने वाली अपने देश की पहली महिला टेनिस खिलाड़ी बन गईं हैं। जहां एक ओर नाओमी ओसाका के लिए ये मैच शानदार और ऐतिहासिक जीत वाला रहा, तो वहीं दूसरी ओर अगर कहा जाए कि ये मैच सेरेना विलियम्स के लिए करियर का सबसे खराब मैच रहा, तो कुछ गलत नहीं होगा। दरअसल इस मैच के दौरान सेरेना विलियम्स और अंपायर कार्लोस रामोस के बीच तगड़ी बहस देखने को मिली।दरअसल मैच के दौरान सेरेना के कोच ने चलती गेम में उनकी ओर हाथ से इशारा किया था और ये बात चेयर अंपायर कार्लोस रामोस के ध्यान में आ गई। अंपायर रामोस ने सेरेना विलियम्स को सीधे तौर पर कहा कि वह मैच के दौरान कोचिंग नहीं ले सकतीं। अंपायर की इस हिदायत पर सेरेना भड़क उठीं और उन्होंने अंपायर से कहा कि वो चीटिंग नहीं करती हैं, अपने करियर में ऐसा उन्होंने कभी नहीं किया। बात यहीं नहीं रुकी, इसके बाद मैच में कुछ ओर प्वांइट्स गंवाने पर सेरेना विलियम्स ने गुस्से में अपना रैकेट जमीन पर दे मारा। इसके बाद अंपायर ने विलियम्स को एक और चेतावनी दी और सेरेना को एक अंक गंवाना पड़ा। सेरेना को ये बात रास नहीं आई और वो अंपायर कार्लोस से भिड़ गईं और उन्हें चोर तक कह डाला। सेरेना और अंपायर के बीच चल रही इस लड़ाई का पूरा फायदा जापान की ओसाका को मिला और उन्होंने अपने करियर की सबसे बड़ी जीत हासिल कर ली।खिताब पर अपना कब्जा जमाने के बाद जापान की ओसाका ने  सेरेना की तरफ झुककर उन्हें धन्यवाद भी दिया। उन्होंने कहा, "मुझे पता था कि यहां सब सेरेना का समर्थन करेंगे। उनके लिए तालियां बजाएंगे। मेरा सपना था कि मैं यूएस ओपन का फाइनल सेरेना के खिलाफ खेलूं।"