image caption: अर्बन एस्टेट फेज-1 में लगाया था फंदा, मर्चेंट नेवी अफसर पति गिरफ्तार

9 और 4 साल के बेटे ने मां को जन्मदिन पर ही दी मुखाग्नि

Date : 2018-08-10 01:39:00 PM

जालंधर : सरकारी टीचर अमनजोत कौर को गुरुवार उनके 9 और 4 साल के बेटों ने मुखाग्नि दी। इससे पहले जैसे ही अमनजोत की लाश घर पहुंची तो सब एक ही बात कह रहे थे कि आज वह जिंदा होती तो घर में मातम नहीं, बर्थडे पार्टी होती क्योंकि वीरवार को अमनजोत कौर का 36वां जन्मदिन था। 9 साल के अनायत सिंह और 4 साल के जोरावर सिंह मां की लाश देखकर मम्मी-मम्मी चिल्लाने लगे। किसी तरह नानी जतिंदर कौर ने दोनों को संभाला। रिश्तेदार रविंदर कौर और फैमिली फ्रेंड नवनीत कौर दोनों बच्चों को दूसरे कमरे में ले गईं। दोपहर 2 बजे अमनजोत कौर की शवयात्रा निकली। पुलिस ने मर्डर के आरोप में पति मर्चेंट नेवी में सेकेंड इंजीनियर कर्णदीप सिंह बल को नामजद कर गिरफ्तार कर लिया है। उसके खिलाफ बुधवार को ही केस दर्ज कर लिया गया था। वह शव यात्रा में न आ सका। अमनजोत की शवयात्रा अर्बन अस्टेट फेज-1 स्थित कोठी नंबर 1047 से निकली। यहां करीब 11 साल पहले 8 अप्रैल, 2007 को वह दुल्हन बनकर आई थी। मॉडल टाउन के श्मशानघाट में दोनों बेटों ने मुखाग्नि दी। कर्णदीप बल पर मर्डर का पर्चा दर्ज करके पुलिस ने उसे राउंडअप कर लिया। एसीपी नवीन कुमार और एसएचओ बलविंदर सिंह ने उससे पूछताछ की लेकिन वह एक ही बात पर अड़ा था कि उसने मर्डर नहीं किया है। उसने बताया कि अमन को जल्दी गुस्सा आ जाता था। गुस्से का कारण ये भी है कि वह ड्रिंक करता था। ड्रिंक वह छोड़ नहीं सकता। तीन महीने से फैमिली की हर बात मानकर उन्हें गोवा तक घुमाकर लाया था। मेरे मम्मी-पापा नहीं हैं और दोनों बहनें शादीशुदा हैं। मेरे पीछे घर में पत्नी और दो बच्चे ही होते थे। मंगलवार रात उसका अमनजोत से खूब झगड़ा हुआ। एक-दूसरे पर हाथ उठाने की नौबत आ गई थी। उसकी गर्दन और अमनजोत के सिर में भी चोट लगी थी। बुधवार को वह नाराज होकर दूसरे रूम में चली गई थी। सोचा था कि गुस्सा ठंडा होनेपर मामला शांत हो जाएगा। जब पत्नी की फैमिली फ्रेंड आई तो तब रूम का कमरा खोला तो जमीन पर अमनजोत कौर की लाश थी। कर्णदीप ने कहा- मेरी ड्रिंक ने मेरी पत्नी की जान लेली। फतेहगढ़ साहिब के बस्सी पठाना के रहने वाले बड़े भाई जोतबीर सिंह बन्नी ने बताया कि बुधवार दोपहर करीब 3:30 बजे मां जतिंदर कौर को अमन की फैमिली फ्रेंड नवनीत कौर की कॉल आई कि अमन को कर्ण ने बुरी तरह पीटा है। वह मिलने गई पर कोई दरवाजा नहीं खोल रहा है। बन्नी ने बताया कि इसी दौरान कर्ण ने कॉल करके उसे बताया कि अमन ने फंदा लग लिया है। बन्नी ने डिफेंस कॉलोनी में रहने वाले रिश्ते में जीजा गुरजीत सिंह को कॉल की। गुरजीत सिंह और ममेरी बहन अमन के घर गए लेकिन अमन की हालत काफी खराब थी। जब तक वह रात को अमन के घर पहुंचा, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। बन्नी ने आरोप लगाया कि जीजा शराब पीने का आदी है और उसने नशे में अमन का गला घोंट दिया। जोतबीर ने कहा कि अमनजोत कौर बहुत लक्की थी। जब अमन की रिंग सेरेमनी थी, तब पता चला कि उसे सरकारी नौकरी मिल गई है। अमन वर्तमान में गांव उसमानपुर में सरकारी स्कूल में टीचर थीं।