image caption:

सुविधा सेंटर का DC ने किया अचानक दौरा, देखने को मिलीं कई खामियां

Date : 2018-08-10 01:27:00 PM

जालंधर  (रवि गिल) : जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स स्थित सुविधा सेंटर का नये सिरे से टेंडर होने के बाद पहली बार डिप्टी कमिश्नर वरिंदर कुमार शर्मा ने निरीक्षण किया। घोषित निरीक्षण के बावजूद सुविधा सेंटर पर कई खामियां देखने को मिलीं। सुबह 10 बजे से टोकन लेकर बैठे लोगों का नंबर काउंटर पर दोपहर 1.50 बजे तक भी नहीं आया था। जबकि नये टेंडर में सेंटर पर आने वाले व्यक्ति की समस्या अधिकतम 25 मिनट में निपटाने की बात हुई है। सेंटर में गंदगी फैली हुई थी। एसी बंद होने के कारण वहां मौजूद सैकड़ों लोग परेशान थे। गौरतलब है कि पहले पूरे पंजाब में सुविधा सेंटरों का ठेका बीएलसी नामक निजी कंपनी के पास था, अब पंजाब में सुविधा सेंटरों में तीन कंपनियां काम कर रही हैं। हालांकि जालंधर डिवीजन के सुविधा सेंटरों का ठेका फिर से बीएलसी कंपनी को ही मिला है। दोबारा ठेका मिलने के बावजूद सरकार ने अनुबंध की शर्तें तो लोगों के हित की बनाई हैं, लेकिन जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स स्थित सुविधा सेंटर की व्यवस्थाओं में किसी भी प्रकार का सुधार नहीं दिखा। डिप्टी कमिश्नर व¨रदर कुमार शर्मा वीरवार को सुविधा सेंटर के नोडल अधिकारी डॉ. जयइंदर ¨सह के साथ दोपहर लगभग डेढ़ बजे पहुंचे, उस समय सेंटर के अंदर सैकड़ों लोग गर्मी में बेहाल बैठे थे। हॉल में फर्श गंदा था, पीने के पानी की भी सुविधा बेहतर नहीं दिखी। जस¨वदर ¨सह चहल नामक एक व्यक्ति ने डीसी को बताया कि उसने अपने जन्म व मैरिज सर्टिफिकेट पर काउंटर साइन कराने के लिए 16 जुलाई को सुविधा सेंटर में आवेदन किया था। 26 जुलाई को उसे लिखित स्लिप देकर काउंटर साइन सर्टिफिकेट ले जाने को कहा गया था। 26 जुलाई के बाद वह लगातार सुविधा सेंटर में आ रहा है लेकिन उसे कभी एमए ब्रांच में भेज दिया जाता है, कभी करतारपुर सुविधा सेंटर में भेज दिया जाता है। उसके सर्टिफिकेट कहां पर हैं, पता ही नहीं चल पा रहा है। डिप्टी कमिश्नर ने 52 नंबर का टोकन लेकर बैठी एक युवती से पूछा तो पता चला कि वह अपनी मां के साथ सुबह 10 बजे से विधवा पेंशन का टोकन लेकर बैठी हैं, लेकिन दोपहर 1.50 बजे तक काउंटर नंबर नहीं आया है, उस समय 44 नंबर चल रहा था। इस पर डीसी ने नाराजगी जताते हुए कंपनी के जिला प्रबंधक को निर्देश दिए कि अनुबंध में अधिकतम समय सात मिनट से लेकर 25 मिनट का है, उसका पालन किया जाए, अन्यथा सख्त कार्रवाई होगी। नए एग्रीमेंट में सेंटर अब डीसी की निगरानी में रहेंगे। निरीक्षण के बाद डिप्टी कमिश्नर व¨रदर कुमार शर्मा ने बताया कि वर्तमान में सुविधा सेंटर में 13 काउंटर चल रहे हैं, जबकि जरूरत 22 काउंटर की है। जल्द ही काउंटर बढ़ा दिए जाएंगे। लगभग एक साल से बंद पड़े एसी जल्द चालू करने को कहा गया है, साथ ही सुविधा सेंटर के अंदर सफाई व्यवस्था बेहतर बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि दो महीने के अंदर सुविधा केंद्र में बदलाव साफ दिखने लगेगा। नये टेंडर के बाद सेंटर पर सिर्फ एक बदलाव दिखा है, मीडिया के प्रवेश पर रोक लगा दी गई थी। एक मीडियाकर्मी को बाजू पकड़कर बाहर कर दिया था, जबकि डीसी के निरीक्षण की सूचना जिला लोक संपर्क विभाग की ओर से जारी की गई थी, इस बात पर मीडियाकर्मियों ने डीसी के समक्ष आक्रोश जताया तो उन्होंने कंपनी के जिला प्रबंधक को खूब फटकार लगाने के साथ ही रोक का आदेश देने वाली महिला मुलाजिम को किसी ग्रामीण सेंटर पर भेजने के निर्देश दिए हैं।