BREAKING NEWS

image caption:

जानिए किस खिलाडी ने कॉमन वेल्थ गेम्स में सिल्वर मैडल जीत कर पंजाब के किस गांव का नाम किया रोशन

Date : 2018-04-09 09:45:00 AM


जालंधर (सतपाल काली/ मोनिका वर्मा)- ऑस्ट्रेलिया के गोल्डकोस्ट में हो रही कॉमनवैल्थ गेम्स में 105 किलोग्राम केटेगरी में सिल्वर मैडल जीतने वाले प्रदीप सिंह जोहल के कोच ने अपनी ख़ुशी बयान करते हुए कहा कि आज पूरे भारत को ख़ुशी है कि पंजाब के होनहार खिलाडी प्रदीप सिंह जोहल ने कॉमन वेल्थ गेम्स में सिल्वर मैडल जीता | लेकिन ये सिल्वर मैडल न होते हुए गोल्ड मैडल भी हो सकता था | क्यूंकि जहां पर प्रदीप सिंह ने गांव जंडियाला में वेट लिफ्टिंग की ट्रेनिंग ली वहां पर इंटेनशनशनल खिलाडियों जैसी सहूलियत नहीं | प्रदीप सिंह जोहल की माँ जसविंदर कौर ने अपने बेटे को सिल्वर मैडल मिलने की ख़ुशी में कहा कि उन्हें अपने बेटे पर गर्व है उन्होंने अपने पंजाब का नाम ही नहीं बल्कि पूरे भारत का नाम रोशन किया है |उन्होंने कहा कि उनके बेटे ने बचपन से ही अपने गांव के स्कूल गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल, समराये जंडियाला में पढ़ाई की लेकिन वो पढ़ाई में कम ध्यान देता था और वेट लिफ्टिंग में उसकी ज्यादा रूची थी | उसके कोच हरमेश लाल, कोच लखबीर लाल ने समय समय पर उसे ट्रेनिंग दी | उन्होंने कहा कि इस मौके सरकार द्वारा प्रदीप को शुभकामनाए दी गई | खिलाडी प्रदीप सिंह जोहल की बहन सुखप्रीत कौर ने ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा कि उनके भाई ने छोटे से गांव का नाम दुनिया के नक़्शे में ला कर खड़ा कर दिया | उन्होंने कहा कि आज अगर उनके पिता स्वर्गीय अमरीक सिंह होते तो अपने बेटे को बुलंदियों को छूते हुए देखकर बहुत खुश होते | लेकिन हमारे चाचा कुलविंदर जोहल, चरणजीत सिंह जोहल, ने मेरे भाई को इस मुकाम पर पहुंचने में बहुत सहयोग दिया | इस ख़ुशी के मौके पर गांव के सरपंच गुरचेतन सिंह ने भी उनके परिवार वालों को बधाई दी | बता दे कि कॉमनवैल्थ गेम्स में भारत अब तक 18 मैडल जीतकर तीसरे स्थान पर बना हुआ है।